उत्तराखंडक्राइमस्वास्थ्य

90 वर्ष की वृद्धा को बेटे-बहू और नाती ने पीटा, तोड़ डाला हाथ

ऋषिकेश अस्पताल में भर्ती वृद्धा की महिला आयोग अध्यक्ष ने ली सुध, एसएसपी को कार्रवाई के निर्देश

Listen to this article

Round The Watch: नरेंद्रनगर के डौर गांव में रिश्तों को शर्मसार और मानवता को तार-तार करने वाली घटना सामने आई है। वृद्धावस्था के जिस दौर में हर एक बुजुर्ग को परिवार से प्यार, सम्मान और देखभाल मिलनी चाहिए, उस दौर में 90 साल की वृद्ध महिला रौशनी देवी को उसी के बेटे, बहू और नाती ने जमकर पीट डाला। इस बेरहम पिटाई में वृद्धा के हाथ की हड्डी टूट गई। वृद्धा घायल, लाचार और मायूस हालत में ऋषिकेश के राजकीय चिकित्सालय में भर्ती है। घटना की जानकारी मिलने पर उत्तराखंड राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल अस्पताल पहुंची और वृद्धा का हालचाल जानने के साथ हौसला बढ़ाया।
घटना टिहरी जिले के नरेंद्रनगर प्रखंड के डौर गांव की है। महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल के मुताबिक पीड़ित वृद्धा से जानकारी मिली कि उनके तीन बेटे हैं, जिनमें से एक बेटे ने अपनी पत्नी व बेटे के साथ मिलकर मारपीट की है। इस दौरान उनका हाथ फ्रैक्चर हो गया, जिसमें प्लास्टर लगा हुआ है।
इस मामले में महिला आयोग की अध्यक्ष ने तत्काल एसएसपी टिहरी से दूरभाष पर वार्ता करते हुए वृद्धा के साथ मारपीट व उनका शोषण करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई के लिए निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की मानसिकता से ग्रसित लोग परिवार की अहमियत को भूल चुकें है। ऐसे लोग, जो अपने वृद्ध माता-पिता के साथ गलत बर्ताव या उनका शोषण करते है, उनको कड़ी कार्रवाई के साथ दंडित किया जाना अत्यंत आवश्यक है।
वहीं, महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने शांति प्रपन्न शर्मा राजकीय चिकित्सालय, ऋषिकेश के महिला वार्ड व प्रसूति गृह में भर्ती सभी जच्चा-बच्चा से मिलकर उनका हाल जाना व अस्पताल में मिलने वाली सुविधाओं का जायजा लिया। इस अवसर पर उन्होंने अस्पताल प्रबंधन को मरीजों व अन्य लोगों से उचित व सामंजस्य पूर्ण व्यवहार करने के लिए कहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button