DehradunUttarakhandउत्तराखंड

Video: इंटर्न नर्स पहाड़ों में सप्लाई कर रही थी स्मैक, एसटीएफ ने दबोचा

नर्स के पास मिली लाखों की 96 ग्राम स्मैक, बरेली से लाकर छात्रों को कर रही थी सप्लाई

Listen to this article
Dehradun: देहरादून में नामी अस्पताल श्री महंत इंदिरेश अस्पताल की कथित इंटर्न नर्स को स्मैक की तस्करी करते हुए पकड़ा गया है। नर्स बरेली से स्मैक लाकर उत्तरकाशी और आसपास के पहाड़ों में बेच रही थी। साथ ही दून में भी कालेज के छात्रों को ड्रग्स पहुंचा रही थी।
उत्तराखंड में बढ़ते नशे की प्रवृति की रोकथाम के लिए ड्रग्स-फ्री देवभूमि अभियान के अंतर्गत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल की ओर से एसटीएफ की एएनटीएफ टीम (एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स) की कार्रवाई जारी है।
इसी क्रम में थाना जीआरपी देहरादून स्थित रेलवे स्टेशन से संयुक्त कार्रवाई करते हुए एक युवती को 96 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ा। युवती ने पूछताछ में बताया कि यह स्मैक बरेली से लेकर आई थी जिसको वह उत्तरकाशी सप्लाई करती थी व आस पास के स्कूल कालेजों में अपने पैडलरों के माध्यम से बिक्री करवाती थी। इस पर एसटीएफ द्वारा पूछताछ में अन्य कई ड्रग्स पैडलरों के नाम की जानकारी हुई है जिन पर कार्रवाई की जाएगी।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल की ओर से जनता से अपील की है कि नशे से दूर रहे। किसी भी प्रकार के लालच में आकर नशा तस्करी न करें। नशा तस्करी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या एसटीएफ उत्तराखंड से संपर्क करें। एसटीएफ लगातार ड्रग्स-फ्री देवभूमि अभियान के तहत अपनी कार्रवाई जारी रहेगी।

उधर, श्रीमहंत इंदिरेश अस्पताल प्रसाशन ने युवती के अस्पताल में इंटर्नशिप करने की बात से इनकार किया है। क्योंकि सुबह से ही नर्स को अस्पताल की नर्स या इंटर्न नर्स बताया जा रहा था। जबकि एसटीएफ के हवाले से बताया गया था कि नर्स इसी अस्पताल से संबंधित है। अस्पताल की ओर से सभी कर्मचारियों व इंटर्न की जानकारी निकाली गई, जिसमें युवती शामिल नहीं मिली। संभवतः युवती ने एसटीएफ को गलत जानकारी दी थी। एसटीएफ के मुताबिक जरूरत पड़ी तो आरोपित के सभी रिकार्ड संबंधित प्रतिष्ठान से निकाल लिए जाएंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button