DehradunUttarakhandउत्तराखंड

दून में भवन कर के बकायेदारों की खैर नहीं, संपत्ति होगी सील

नगर निगम हुआ सख्त, आम बकायेदारों की जारी होगी आरसी

Listen to this article

Usha Bhandari, Dehradun: दून में लंबे समय से भवन कर न चुकाने वालों की अब खैर नहीं। बकायेदारों से कर वसूली को लेकर निगम सख्त हो गया है। बकाएदारों को लगातार नोटिस भेजे जा रहे हैं। नोटिस के बावजूद कर अदा न करने वालों पर ब कड़ी कार्रवाई होगी। निगम व्यावसायिक प्रतिष्ठानों की संपत्ति सील करने की तैयारी कर रहा है। जबकि आम बकायेदारों की भी आरसी जारी करने का निर्णय लिया गया है। ऐसे हजारों करदाताओं से वसूली कर नगर निगम का करीब 60 करोड़ राजस्व प्राप्त होने का लक्ष्य है।


नगर निगम का कर अनुभाग राजस्व वसूली के कार्यों में तेजी लाने के लिए बकायेदारों से वसूली पर जोर दे रहा है। निगम ने बीते कुछ माह में करीब चार हजार बकायेदारों को नोटिस जारी कर भुगतान करने को कहा, जिस पर ज्यादातर ने कर अदा कर दिया है। लेकिन अब भी हजारों की संख्या में बकायेदार हैं जो नोटिस के बावजूद कर का भुगतान नहीं कर रहे हैं। ऐसे में निगम ने सख्ती दिखाते हुए तमाम बड़े बकायेदारों की सूची तैयार कर नोटिस भेजे जा रहे हैं। व्यावसायिक प्रतिष्ठानों की ओर से बकाये का भुगतान न होने पर संपत्ति सील करने की तैयारी है।

साथ ही आम बकायेदारों को भी नोटिस के बाद भी भुगतान न करने पर आरसी जारी कर जुर्माने के साथ वसूली की जाएगी। कर अधीक्षक धर्मेश पैन्यूली ने बताया कि दिसंबर में अधिक से अधिक राजस्व वसूली का लक्ष्य है। प्रयास किया जाएगा कि इस माह भी 30 करोड़ रुपये से अधिक का राजस्व प्राप्त किया जा सके। इसके लिए बकायेदारों को नोटिस भेजने के साथ ही जुर्माने की कार्रवाई भी जाएगी।
———
स्वमूल्यांकन में गलत जानकारी देने वाले भी कार्रवाई को रहें तैयार

कई व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के स्वामियों की ओर से संपत्ति का स्वमूल्यांकन कर नगर निगम को अक्सर गलत जानकारी दे दी जाती है। जिसमें प्रतिष्ठान का एरिया वास्तविक से कम दर्शाकर कर अदा किया जाता है। ऐसे प्रतिष्ठानों को चिहि्नत कर नगर निगम की टीम संपत्ति की पैमाइश करेगी। एरिया अतिरिक्त मिलने पर ब्याज सहित जुर्माना लगाया जाएगा। भुगतान न करने पर उक्त संपत्ति को सील भी किया जा सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button