crimeUttarakhand

44 लाख के बैंक लोन से मुक्ति पाने को पत्नी को मौत के घाट उतार दिया

कोल्ड ड्रिंक में शराब मिलाकर किया पत्नी को बेसुध, फिर गंगनहर में दिया धक्का 

Listen to this article
Amit Bhatt, Dehradun: जिस महिला की मौत गंगनहर में डूबने से मानी गई थी, उसका खौफनाक सच सामने आया है। महिला की मौत डूबने से नहीं हुई थी, बल्कि उसे डुबोया गया था। डुबोने वाला भी और कोई नहीं, उसका पति ही था। पत्नी की हत्या की कहानी और भी चौंकाने वाली है। पति ने अपनी पत्नी को इसलिए मार डाला कि उसके नाम पर 44 लाख रुपये का ऋण बैंक से लिया गया था। इस कर्ज से मुक्ति पाने के लिए ही आरोपी पति ने पत्नी की हत्या का साजिश कर डाली। इस मामले में पुलिस ने पति और उसके दोस्त के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।
कोतवाली सिविल लाइंस में पत्रकारों से रूबरू वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) प्रमेन्द्र सिंह डोबाल ने बताया कि 07 फरवरी 2024 को उत्तर मुजफ्फरनगर के थाना रामराज अंतर्गत ग्राम जलालपुर नीला निवासी सुशील ने थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया कि उसकी बेटी मनीषा की शादी 5 साल पहले मेरठ के थाना हस्तिनापुर अंतर्गत ग्राम झडाका निवासी अतेंद्र के साथ हुई थी। दोनों के दो छोटे बच्चे हैं। 3 साल पहले अतेंद्र ने हरिद्वार में मकान बना लिया था और वहीं पर अकेला रहता था, जबकि उसकी पत्नी मनीषा अपनी ससुराल में रहती थी।
मनीषा की हत्या की गुत्थी सुलझाने के बाद जानकारी देते एसएसपी हरिद्वार प्रमेन्द्र डोबाल।

अतेंद्र बहुत कम ही अपने घर पर आता था। आरोप है कि घर आकर अतेंद्र अक्सर मनीषा के साथ गाली गलौज और मारपीट करता था। अतेंद्र का हरिद्वार में एक साल से एक लड़की के साथ भी अवैध संबंध बताए गए हैं। 7 फरवरी को अतेंद्र का दोस्त अजय प्रकाश उसको मोटरसाइकिल पर गांव से लेकर आ रहा था। उन्होंने उसकी गंगनहर में डूबोकर हत्या कर दी है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि शुरू से ही पति अतेंद्र एवं उसका दोस्त अजय प्रकाश उर्फ रवि पुलिस के रडार पर था। सख्ती से पूछताछ की गई तो अतेंद्र ने बताया कि उसने पत्नी मनीषा के नाम पर बैंक से ऋण लेकर ज्वालापुर में आटा चक्की लगाई।

पत्नी के नाम 44 लाख रुपये का कर्ज था। इस दौरान उसके अवैध संबंध बैंक में काम करने वाली एक महिला से हो गए। इस बात की जानकारी मनीषा को मिली तो उसने विरोध किया। जिस पर आरोपित ने मनीषा को ठिकाने लगाने की सोची। उसे बैंक से जानकारी मिली कि यदि मनीषा की मौत हो जाती है तो 44 लाख का कर्ज भी माफ हो जाएगा। इसके बाद उसने सात फरवरी को मनीषा को कोल्ड ड्रिंक में शराब मिलाकर बेसुध कर दिया। इसके बाद उसे गंगनहर में धक्का दे दिया। एसएसपी ने बताया कि मनीषा के शव की गंगनहर में तलाश जारी है। इस वारदात में शामिल कार, बाइक एवं मृतक के कुछ सामान को बरामद कर लिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button